डॉक्टर :-तबियत कैसी है..?

 मरीज़ :-पहले से ज्यादा खराब है...

 डॉक्टर :-दवाई खा ली थी.?

 मरीज़ :-खाली नहीं थी भरी हुई थी...

 डॉक्टर :- मेरा मतलब है दवाई ले ली थी.?

 मरीज़ :-जी आप ही से तो ली थी...

 डाक्टर :-बेवक़ूफ़ !! दवाई पी ली थी.?

 मरीज़ :-नहीं जी,, दवाई नीली थी...

 डॉक्टर :-अबे गधे !! दवाई को पी लिया था.?

 मरीज़ :-नहीं जी,, पीलिया तो मुझे था...

 डॉक्टर :-उल्लू के पट्ठे !! दवाई को खोल के मुँह में रख लिया था.?

 मरीज़ :-नहीं आप ही ने तो कहा था कि फ्रिज में रखना.....

 डॉक्टर :-अबे क्या मार खायेगा..?

 मरीज़ :-नहीं दवाई खाऊंगा...

 डॉक्टर :-निकल साले, तू पागल कर देगा...

 मरीज़ :-जा रहा हूँ, फिर कब आऊँ..?

 डॉक्टर :-मरने के बाद...

 मरीज़ :-मरने के कितने दिन बाद.?

डॉक्टर बेहोश।

Comments

Popular posts from this blog

अबिगत गति कछु कहति न आवै

मेरो मन अनत कहाँ सुख पावे

निसिदिन बरसत नैन हमारे।